logo
  • icon

    Email Address

    balprahri@gmail.com
  • icon

    Phone Number

    +91-9412162950,
  • icon

    We Are Here

    Darbari Nagar, Almora, Uttarakhand.
  • icon

    Visiter Counter

    web counter

अभिभावकों व शुभचिंतकों से बालप्रहरी की अपील

अभिभावकों व शुभचिंतकों से
          बालप्रहरी की अपील
 
       हम लोग विगत 18 वर्षो से बच्चों की त्रैमासिक पत्रिका का प्रकाशन जन सहयोग से करते  आ रहे हैं। इस पत्रिका के प्रत्येक अंक में कम से कम 12 पृष्ठों पर बच्चों की रचनाएं दी जाती हैं। प्रत्येक अंक में 60 से अधिक बच्चों को अभिव्यक्ति का अवसर दिया जाता है।  अभी तक देश के 16 राज्यों में हम जन सहयोग से बच्चों की 287 कार्यशालाएं 5 दिवसीय  कर चुके हैं। जिसमें लगभग 22,000 बच्चों से हमारा सीधा संवाद हुआ है। इसके अतिरिक्त लगभग 500  स्कूलों में लगभग 50 हजार बच्चों से कहानी व खेल माध्यम से जुड़ने में हम सफल हुए हैं। कोरोना काल में शुभचिंतकों व अभिभावकों के सहयोग से हमने बच्चों की ऑनलाइन कार्यशालाएं प्रारंभ की।  कोरोना काल में प्रारंभ होने वाली बालप्रहरी की ऑनलाईन कार्यशालाओं को दो वर्ष से अधिक समय हो गया है। अभिभावकों के सहयोग से हम  आज 497 वां ऑनलाईन कार्यक्रम है। शीघ्र ही हम 500 कार्यक्रम पूरे करने जा रहे हैं। हमारे साथ भारत के 16 राज्यों के लगभग 2100 बच्चे आनलाइन जुड़े हैं। जिनमें से अभी तक  380 बच्चे विभिन्न कार्यक्रमों का संचालन कर चुके हैं। 1500 से अधिक बच्चे अध्यक्षता कर चुके हैं। लगभग 150 बच्चे विशिष्ट अतिथि बतौर अपनी अभिव्यक्ति दे चुके हैं। वर्तमान में लगभग 250 बच्चे सक्रिय हैं। 
1. हमारे इस समूह से जुड़े  जो बच्चे अलग-अलग कारणों से हमसे नहीं जुड़ पा रहे हैं। उनके हमारा निवेदन है कि आपने अपनी प्रतिभा से  इस समूह में दूसरे बच्चों व अभिभावकों को जोड़ा है। इसलिए आप महीने, 15 दिन या सप्ताह में जरूर समय निकालकर मदद करें। ‘बालप्रहरी के साथ मेरे अनुभव’ विषय पर शीघ्र  आयोजित  होने वाली कार्यशाला के माध्यम से आप अपने अनुभव जरूर शेयर करें। इसमें हम कक्षा 12 उर्त्तीण दोस्तों को भी जोड़ना चाहेंगे।
2. हमारा प्रयास रहा है कि हम सभी प्रतिभागियों को प्रतिभाग करने का अवसर मिले। इसलिए एक ही विषय को तीन या चार दिन भी कराने का हमारा प्रयास रहा है। निर्धारित समय/समूह या मोबाइल नंबर पर पासपोर्ट साइज फोटो व माता-पिता  का नाम हिंदी में लिखने पर प्रशस्ति पत्र भी बच्चों को देने का हमारा प्रयास रहा है।  प्रतिदिन के प्रतिभागी दोस्तों को व्यक्तिगत मैसेज से कार्यक्रम व फोटो आदि शेयर करने की जानकारी दी जाती है। निवेदन है कि मैसेज को पढ़कर ही अपना फोटो/सहमति आदि शेयर करें।
3. अभी तक 497 अभिभावकों, साहित्यकारों व शुभचिंतकों को मुख्य अतिथि बतौर जोड़ा गया है। लगभग 250 कवियों /अभिभावकों को  अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में बाल कविता पढ़ने का अवसर मिला है।
बालप्रहरी की ऑनलाइन कार्यशालाओं को आगे बढ़ाने में अभिभावकों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। भविष्य  में भी सभी अभिभावकों से सकिय्र सहयोग की अपेक्षा है। आप नए अभिभावकों/बच्चों को समूह से जोड़ सकते हैं। बालप्रहरी पत्रिका के लिए बच्चों की कविता, ड्राइंग, यात्रा वृतांत, एक दिन की बात है आदि लिखवाकर निःशुल्क प्रकाशन के लिए भिजवा सकते हैं। बालप्रहरी पत्रिका की 3 वर्ष की  संरक्षक सदस्यता 5000 रुपए/आजीवन सदस्यता 2000 तथा तीन वर्ष की सदस्यता 160 रुपए भिजवाकर हमारे अभियान को संबल प्रदान कर सकते हैं।
                 बालप्रहरी पत्रिका की सदस्यता/ कविता व ड्राइंग आदि भेजने तथा ऑनलाइन जुड़ने के लिए  वाट्सअप नंबर 9412162950 पर मैसेज भेजा जा सकता है। बालप्रहरी की गतिविधियों की जानकारी आपको प्रतिदिन भेजी जाती है। कृपया इन्हें अन्य मित्रों को भी शेयर कीजिएगा। मोबाइल हैंग होने के डर से कार्यक्रमों की फोटो शेयर नहीं करते हैं। यदि हमारे मैसेज आपको परेशान करने जैसे लगते हैं तो सूचित कर दें।
 

नोट- बालप्रहरी के 500 कार्यक्रम पूरे होने पर सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता के तहत 500 से अधिक सामान्य ज्ञान के प्रश्नों का संकलन करने पर प्रत्येक प्रतिभागी को ऑनलाईन प्रमाण पत्र दिया जाना है। सबसे अधिक प्रश्न संकलन करने पर 1000, 750 तथा 500 रुपए की पुस्तकें उपहार में भेजे जाने की योजना है। इसक विस्तृत  नियम पूर्व में कई बार शेयर किए गए हैं। जिन्होंने भी सामान्य ज्ञान के प्रश्न संकलित किए हैं। उन्हें 24 सितंबर से पहले बालप्रहरी समूह में जुड़ने की सहमति देनी है। निवेदन है कि इस बीच सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता से संबंधित सूचना के लिए  समय-समय पर हमारी सूचना  जरूर देखें। आप कुछ दिन बाद कहेंगे कि मैंने  सबसे अधिक संकलन किए हैं। ये मान्य नहीं होगाबालप्रहरी के लिए रचनाएं आमंत्रित
 

अल्मोड़ा,उत्तराखंड से विगत 18 वर्षो से अनवरत रूप से जन सहयोग से प्रकाशित बच्चों की पत्रिका बालप्रहरी के लिए बाल कहानी, बाल कविता आदि बालापयोगी रचनाएं प्रकाशनार्थ सादर आमंत्रित हैं। फिलहाल मानदेय दिया जाना संभव नहीं है।  रचनाएं मेल से भी भेजी जा सकती हैं। 

रचनाएं डाक से भी संपादक बालप्रहरी दरबारीनगर,अल्मोड़ा, उत्तराखंड के पते पर भी भेजी जा सकती हैं। वाट्सअप पर कुछ समय बाद सामग्री हट जाती है। इसलिए रचनाएं मेल या डाक से भिजवाकर मदद कीजिएगा। आशा है सहयोग कर कृतार्थ करेंगे। अधिक जानकारी के लिए 9412162950 पर संपर्क किया जा सकता है।

 

बच्चे की ड्राइंग आंमत्रित

बच्चे की प्रत्येक रचना  पर नाम कक्षा स्कूल पूरा पता एवं फोन नंबर लिखा जाना चाहिए।
अधिक जानकारी के लिए 9412162950 पर संपर्क किया जा सकता है।

whastapp